मजदूरों को मिलेगी हर महीने तीन हजार रुपये पेंशन: PM Shram Yogi Mandhan Yojana Details

मजदूरों को मिलेगी हर महीने तीन हजार रुपये पेंशन: PM Shram Yogi Mandhan Yojana Details

मजदूरों को मिलेगी हर महीने तीन हजार रुपये पेंशन: PM Shram Yogi Mandhan Yojana Details -: प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के सामने आने वाली चुनौतियों का समाधान करने के लिए शुरू की गई थी। इसके लिए 18 साल से 40 साल के व्यक्तियों को आवेदन करना होगा जिसके बाद वह असंगठित क्षेत्र के वर्कर्स को 60 साल की उम्र के बाद 3000 रुपए पेंशन मिलती है। आप प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के पोर्टल पर आसानी से इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

मजदूरों को मिलेगी हर महीने तीन हजार रुपये पेंशन: PM Shram Yogi Mandhan Yojana Details
मजदूरों को मिलेगी हर महीने तीन हजार रुपये पेंशन: PM Shram Yogi Mandhan Yojana Details

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना क्या हैं?

देश के असंगठित क्षेत्र में लाखों ऐसे मजदूर हैं, जो दिहाड़ी मजदूरी करते है, लेकिन किसी ऑर्गेनाइजेशन से जुड़े न होने के कारण उन्हें भविष्य के लिए PF जैसी सुविधाओं का लाभ नहीं मिलता हैं। इन मजदूरों को आर्थिक मदद देने और आर्थिक तौर पर मजबूत करने के लिए केंद्र-राज्य सरकारों की और से अलग-अलग स्कीम चलाई जाती हैं। ऐसी ही एक स्कीम “श्रम योगी मानधन योजना” है, जो आपके बुढ़ापे में मासिक आय का सोर्स बन सकती हैं। जिससे आपको हर महीने 3000 रुपए की पेंशन का फायदा हो सकता हैं। इस श्रम योगी मानधन योजना में मजदूरों को हर महीने 3000 रुपए की पेंशन का फायदा मिलता है। इसमें रेड़ी-पटरी लगाने वाले, रिक्शा चालक, कंस्ट्रक्शन क्षेत्र और ऐसे ही अंसगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर शामिल होते हैं। अगर आप भी असंगठित क्षेत्र में काम करते हैं और अब तक कोई पेंशन का प्लान नहीं लिया है तो आप इस श्रम योगी मानधन योजना का प्लान ले सकते हैं।

श्रम योगी मानधन योजना के तहत किसे मिलेगी पेंशन?

ये श्रम योगी मानधन योजना असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए हैं। इनमे घर में काम करने वाले, रेहड़ी लगाने वाले दुकानदार, ड्राइवर, प्लंबर, दर्जी, मिड-डे मिल वर्कर, रिक्शा चालक, निर्माण कार्य करने वाले मजदूर, कूड़ा बीनने वाले, बीड़ी बनाने वाले, हथकरघा, कृषि कामगार, मोची, धोबी, चमड़ा कामगार को शामिल किया गया हैं।

इस श्रम योगी मानधन योजना के लिए असंगठित क्षेत्र के मजदूर की इनकम 15,000 रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए। सेविंग्स बैंक अकाउंट या फिर जन-धन अकाउंट की पासपोर्ट और आधार नंबर होना चाहिए। उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। पहले से केंद्र सरकार की किसी अन्य पेंशन स्कीम का फायदा नहीं उठाया गया हो।

श्रम योगी मानधन योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

  • श्रम योगी मानधन योजना के पोर्टल पर जाकर स्कीम के लिए आवदेन कर सकते हैं।
  • रजिस्ट्रेशन के लिए आपको कॉमन सर्विस सेंटर पर जाना होगा।
  • यहाँ आपको आधार कार्ड, सेविंग अकाउंट या फिर जन-धन अकाउंट जैसे जरूरी जानकारी देनी होगी।
  • बैंक की जानकारी देने के लिए आवेदक को पासबुक, चेकबुक या बैंक स्टेटमेंट दिखाना होता हैं।
  • अकाउंट ओपन करते ही समय आवेदक को नॉमिनी की भी जानकारी देनी होती हैं।
  • यह सब जानकारी देने के बाद आवेदक का अकाउंट ओपन हो जाएगा और श्रम योगी कार्ड मिल जाएगा।

श्रम योगी मानधन योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए 1800 267 6888 टोल फ्री नंबर पर भी संपर्क कर सकते हैं। इनके अलावा labour.gov.in/pm-sym वेबसाइट पर जाकर के भी सारी डिटेल्स चेक कर सकते हैं।

श्रम योगी मानधन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैं?

  • श्रम योगी मानधन योजना का लाभ असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को ही मिलेगा।
  • मजदूर की इनकम मासिक 1500 रुपए से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
  • बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।
  • केंद्र सरकार द्वारा अन्य किसी पेंशन स्कीम का लाभ नहीं उठा रहे हो।
  • आवदेक की उम्र 18 से 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

यह भी पढ़े :

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना क्या है?

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना (PM-SYM) भारत सरकार द्वारा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए शुरू की गई एक सामाजिक सुरक्षा योजना है। यह योजना 60 वर्ष की आयु के बाद ₹3,000 प्रति माह की पेंशन प्रदान करती है।

मुझे इस योजना में कितना योगदान देना होगा?

योजना में योगदान की राशि आपकी उम्र और आय के आधार पर भिन्न होती है। न्यूनतम योगदान राशि ₹55 प्रति माह है और अधिकतम ₹200 प्रति माह है। सरकार आपके योगदान का 50% (अधिकतम ₹55 प्रति माह) देती है। उदाहरण के लिए, यदि आप 25 वर्ष की आयु में शामिल होते हैं, तो आपका मासिक योगदान ₹60 होगा और सरकार ₹30 का अतिरिक्त योगदान करेगी, जिससे आपका कुल योगदान ₹90 हो जाएगा।

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के लिए कौन पात्र हैं?

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के लिए आवदेक की उम्र 18 से 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। इसमें रेड़ी-पटरी लगाने वाले, रिक्शा चालक, कंस्ट्रक्शन क्षेत्र और ऐसे ही अंसगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर शामिल होते हैं।

Leave a Comment