ई बाइक योजना क्या है: E Bike Yojana Kya Hain

ई बाइक योजना क्या है: E Bike Yojana Kya Hain

ई बाइक योजना क्या है: E Bike Yojana Kya Hain -: इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए नई सब्सिडी स्कीम में इलेक्ट्रिक कारों को शामिल नहीं किया गया हैं। इसके अलावा इलेक्ट्रिक बसें खरीदने पर भी नई स्कीम का फ़ायदा नहीं मिलेगा। फिलहाल इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर और इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर खरीदने पर सब्सिडी मिलेगी। यहां जानिए स्कूटर या बाइक खरीदने पर आपको कितनी छूट मिल सकती हैं।

ई बाइक योजना क्या है: E Bike Yojana Kya Hain
ई बाइक योजना क्या है: E Bike Yojana Kya Hain

ई बाइक खरीदने का यह बढ़िया मौका हैं। अगर आप 31 मार्च 2024 तक ई बाइक खरीदते हैं तो आपको कई हजार रुपए की छूट का फायदा मिलेगा। दरअसल मार्च के बाद फास्टर एडॉप्शन और मेन्यूफेक्चरिंग इलेक्ट्रिक व्हीकल यानी FAME 2 स्कीम खत्म हो जाएगी। सरकार ने इसकी मियाद बढ़ाने से मना कर दिया हैं। हालांकि इसकी जगह सरकार ने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्रोमोशन स्कीम (EMPS) लाने का एलान किया हैं। यह स्कीम 1 अप्रैल से लागू होगी और फेम 2 योजना की जगह लेगी।

कई लोगों ले मन में डर है कि अप्रैल में इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदने पर उन्हें सरकार से सब्सिडी का फ़ायदा नहीं मिलेगा। यह सही है कि मार्च के बाद फेम 2 सब्सिडी का फ़ायदा नहीं उठाया जा सकेगा। मगर EMPS के जरिए आप इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर और थ्री-व्हीलर खरीदने पर सब्सिडी का फायदा उठा सकते हैं।

ई बाइक योजना क्या है?

ई बाइक योजना भारत सरकार की एक पहल हैं, जिसका उद्देश्य इलेक्ट्रिक बाइक (ई-बाइक) को अपनाने को बढ़ावा देना हैं। इस ई बाइक योजना के तहत सरकार ई-बाइक खरीदने वालों को सब्सिडी प्रदान करती हैं।

ई-बाइक योजना दो चरणों में लागू की गई हैं :

पहला चरण : यह चरण 1 अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2022 तक लागू रहा था। इस चरण में सरकार ने ई-बाइक पर 10,000 रुपए तक की सब्सिडी प्रदान की थी।

दूसरा चरण : यह चरण 1 अप्रैल 2022 से 31 मार्च 2024 तक लागू हैं। इस चरण में सरकार ने ई-बाइक पर 5000 रुपए तक की सब्सिडी प्रदान करने का निर्णय लिया हैं।

ई बाइक योजना के क्या लाभ हैं?

ई बाइक योजना के कई लाभ हैं, जिनमे शामिल हैं :

पर्यावरणीय लाभ :

  • ई बाइक पेट्रोल या डीजल से चलने वाली बाइक की तुलना में अधिक पर्यावरण के अनुकूल हैं।
  • ई बाइकें कार्बन पैदा नहीं करती हैं, जिससे वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलती हैं।

आर्थिक लाभ :

  • ई बाइकें पेट्रोल या डीजल से चलने वाली बाइक की तुलना में चलाने में सस्ती हैं।
  • ई बाइकें में कम चलने वाले पुर्जे होते हैं, जिससे रखरखाव का खर्च कम होता हैं।
  • सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी ई बाइक की कीमत को कम करती हैं।

स्वास्थ्य लाभ :

  • ई बाइक चलने से व्यायाम होता हैं, जो स्वास्थ्य के लिए अच्छा हैं।
  • ई बाइक चलाने से तनाव कम होता हैं।
  • ई बाइक से दिल और फेफड़ों की कार्यक्षमता में सुधार होता हैं।

सामाजिक लाभ :

  • ई बाइकें शोर नहीं करती हैं, जिससे ध्वनि प्रदूषण काम होता हैं।
  • ई बाइकें शहरों में भीड़भाड़ को कम करने में मदद करती हैं।
  • ई बाइक लोगों को अधिक स्वतंत्र रूप से घूमाने में मदद करती हैं।

ई बाइक योजना के लाभों के कारण ई बाइकें भारत में तेजी से लोकप्रिय हो रही हैं। यदि आप एक बाइक खरीदने जा रहे है, तो आपको एक बार ई बाइक पर विचार करना चाहिए।

भारत में बड़ी इलेक्ट्रिक गाड़ियों की बिक्री

सरकारी डेटा के मुताबिक फेम 1 के तहत करीब 2,78,000 ईवी की खरीदी पर कुल 343 करोड़ रुपए की सब्सिडी खर्च हुई हैं। दूसरी तरफ फेम 2 स्कीम को 10,000 करोड़ रुपए के बजट के साथ अप्रेल से शुरू किया गया था। यह स्कीम तीन साल के लिए लागू की गई थी जो मार्च 2024 के बाद खत्म हो जाएगी।

भारत में इस साल इलेक्ट्रिक गाड़ियों की बिक्री में 45 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई हैं। सरकार द्वारा सब्सिडी घटाने के बाद भी बिक्री में इजाफा दर्ज किया गया हैं। 2023 में करीब 15 लाख ईवी का रजिस्ट्रेशन हुआ हैं।

यह भी पढ़े :

ई-बाइक योजना क्या है?

ई-बाइक योजना भारत सरकार की एक पहल है जिसका लक्ष्य इलेक्ट्रिक बाइक (ई-बाइक) को अपनाने को प्रोत्साहित करना है. इस योजना के अंतर्गत, सरकार सब्सिडी देकर ई-बाइक खरीद को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करती है।

ई-बाइक योजना के लिए पात्रता क्या है?

ई-बाइक योजना का लाभ उठाने के लिए आपको कुछ पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा:

आप भारत के नागरिक होने चाहिए.
आपकी सालाना आय 3 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए.
आपने पहले कभी ई-बाइक के लिए सब्सिडी नहीं ली हो.

ई-बाइक योजना के तहत सब्सिडी कैसे प्राप्त करें?

ई-बाइक योजना के तहत सब्सिडी पाने के लिए निम्न चरणों का पालन करें:

किसी अधिकृत डीलर से ई-बाइक खरीदें.
डीलर से सब्सिडी के लिए आवेदन पत्र प्राप्त करें.
आवेदन पत्र को आधार कार्ड, पैन कार्ड, आय प्रमाण पत्र, पते का प्रमाण और ई-बाइक के चालान सहित आवश्यक दस्तावेजों के साथ भरें और जमा करें.
डीलर आपके आवेदन को सरकार के पास भेजेगा.
सरकार आपके आवेदन की समीक्षा करेगी और पात्रता होने पर आपको सब्सिडी प्रदान करेगी.

Leave a Comment