बिहार राज्य फसल सहायता योजना हेतु आवेदन (रबी-2023-24) Last Date: Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2024

बिहार राज्य फसल सहायता योजना हेतु आवेदन (रबी-2023-24) Last Date: Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2024

बिहार राज्य फसल सहायता योजना हेतु आवेदन (रबी-2023-24) Last Date: Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2024 -: बिहार सरकार ने एक नोटिफिकेशन जारी किया हैं। अगर किसी किसान खरीफ पाक में नुकसान हुआ है तो सरकार उसकी फसल की भरपाई करेगी। अगर किसान की फसल में 10%नुकसान हुआ है तो उसमे किसान को 7500 रुपए प्रति हेक्टर मिलेगा। अगर किसान का 20% से अधिक नुकसान हुआ है तो ऐसे में बिहार सरकार 10,000 रुपए देगी। अगर किसान के खरीफ पाक में धान, मक्का, सोयाबीन है या कोई भी खरीफ पाक हो तो सभी पाक के लिए इस बिहार खरीफ पाक बीमा योजना के अंदर सहायता मिलेगी।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना हेतु आवेदन (रबी-2023-24) Last Date: Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2024
बिहार राज्य फसल सहायता योजना हेतु आवेदन (रबी-2023-24) Last Date: Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2024

बिहार राज्य फसल सहायता योजना क्या हैं?

बिहार राज्य फसल सहायता योजना एक सरकारी योजना है जो किसानों को अपनी फसलों के नुकसान से मुआवजा प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करती है। यह योजना किसानों को आपदा, प्राकृतिक आपदाओं,विपदों या अन्य असाधारण परिस्थितियों के कारण उनकी फसलों के नुकसान की स्थिति में आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

इस योजना के अंतर्गत बिहार सरकार किसानों को फसल की नुकसान के मामले में आर्थिक सहायता प्रदान करती है। जिससे उन्हें नुकसान से निपटने में मदद मिल सके। इसका उद्देश्य किसानों को अच्छे बिक्री मूल्य और नुकसान कम करने के लिए अनुदान प्रदान करना है।

इस योजना के तहत किसानों को फसलों के नुकसान का मुआवजा प्रदान किया जाता है जैसे की बाढ़, सूखा, हिमपात बारिश की कमी आदि। यह योजना बिहार के किसानों को अपनी फसलों की हानि से होने वाले नुकसान का सामाजिक और आर्थिक समर्थन प्रदान करने का प्रयास करती है।

इस योजना का उद्देश्य क्या हैं?

बिहार राज्य फसल सहायता योजना का मुख्य उद्देश्य बिहार के किसानों को अपनी फसलों के नुकसान से होने वाले आर्थिक और सामाजिक बोझ को कम करना है। यह योजना आपदा, प्राकृतिक आपदाओं, विपदो या अन्य असाधारण परिस्थितियों के कारण किसानों को होने वाले नुकसान की स्थिति में मदद प्रदान करती है। इसके माध्यम से सरकार उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करती है ताकि वे फिर से अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सके और नए साल की फसल की तैयारी कर सके। इस योजना के कई उद्देश्य है जैसे कि किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करना, कृषि क्षेत्र को मजबूत बनाना, किसानों की आय में वृद्धि करना, ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाना और खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करना आदि।

इस योजना के क्या लाभ हैं?

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के कई लाभ है जो बिहार के किसानों को प्राप्त होते हैं।

  • नुकसान का मुआवजा : इस योजना के तहत किसानों को उनकी फसलों में होने वाले नुकसान का मुआवजा प्राप्त करने का मौका मिलता है। यह उन्हें आर्थिक रूप से समर्थ बनता है और उनके नुकसान को पूरा करने में मदद करता है।
  • आर्थिक सहायता : इस योजना के द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, जिससे वह अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सकते हैं और अपने खेती व्यवसाय को बढ़ावा दे सकते हैं।
  • वित्तीय सुरक्षा : इस योजना के माध्यम से किसानों को फसलों के नुकसान से होने वाली वित्तीय हानि से बचाव मिलता है, जिससे उनकी वित्तीय सुरक्षा मजबूत होती है।
  • समर्थन सामाजिक और आर्थिक तंत्र : इस योजना के माध्यम से सरकार किसानों के आर्थिक और सामाजिक तंत्र को समर्थ बनाने का प्रयास करती है, जिससे वह अपने जीवन की गुणवत्ता में सुधार कर सकें ।
  • खेती की सामर्थ्य और प्रोफेशनलिज्म : इस योजना के लाभार्थी किसानों को अपनी खेती की सामर्थ्य को बढ़ाने और इसे पेशेवर तरीके से निर्वाह करने के लिए सहायता मिलती है।

इस योजना के तहत उपलब्ध लाभ और सुविधाओं से, बिहार के किसानों को फसलों के नुकसान से होने वाले आर्थिक और सामाजिक दबाव को कम करने में मदद मिलती है।

इस योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या हैँ?

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्नलिखित है :

पहचान प्रमाण :

  • आधार कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस

निवास प्रमाण :

  • बिजली का बिल
  • पानी का बिल
  • राशन कार्ड

भूमि स्वामित्व प्रमाण :

  • खतियान
  • रसीद
  • भूमि स्वामित्व प्रमाण पत्र

फसल बीमा प्रमाण पत्र :

  • यदि किसान ने अपनी फसल का बीमा करवाया है, तो उन्हें फसल बीमा प्रमाण पत्र जमा करना होगा।

प्राकृतिक आपदा के कारण फसल को हुए नुकसान का प्रमाण :

  • किसान को प्राकृतिक आपदा के कारण फसल को हुए नुकसान का प्रमाण जमा करना होगा। यह प्रमाण राजस्व विभाग या कृषि विभाग द्वारा जारी किया जा सकता है।

बैंक खाता विवरण :

  • किसान को अपना बैंक खाता विवरण जमा करना होगा ताकि मुआवजा सीधे उनके बैंक खाते में जमा किया जा सके।

अन्य दस्तावेज :

  • कृषि विभाग द्वारा मांगे गए अन्य दस्तावेज।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यह केवल एक सामान्य सूची है और आवश्यक दस्तावेजों में बदलाव भी हो सकता है।आवश्यक दस्तावेजों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, किस निकटतम कृषि कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।

इस योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

बिहार राज्य फसल सहायता योजना के लिए आवेदन करने के दो तरीके हैं :

ऑनलाइन आवेदन :

  • किसान बिहार कृषि विभाग की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • वेबसाइट पर किसानों को बिहार राज्य फसल सहायता योजना लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद किसानों को ऑनलाइन आवेदन पत्र भरना होगा और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करना होगा।
  • आवेदन पत्र भरने के बाद किसानों को आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा।
  • आवेदन शुल्क का भुगतान करने के बाद किसानों को अपना आवेदन जमा करना होगा।

ऑफलाइन आवेदन :

  • किसान निकटतम कृषि कार्यालय में जाकर ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • कृषि कार्यालय से किसानों को बिहार राज्य फसल सहायता योजना आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन पत्र भरने के बाद किसानों को आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र जमा करना होगा।

बिहार राज्य फसल सहायता योजना हेतु आवेदन की अंतिम तिथि क्या है?

बिहार राज्य फसल सहायता योजना हेतु आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च 2024 है।

अंतिम तिथि के बारे में और जानकारी प्राप्त करने के लिए आप निम्नलिखित तरीकों से संपर्क कर सकते हैं जैसे कि बिहार कृषि विभाग की वेबसाइट, निकटतम कृषि कार्यालय और हेल्पलाइन नंबर।

यह भी पढ़े :

बिहार राज्य फसल सहायता योजना क्या है?

बिहार राज्य फसल सहायता योजना एक सरकारी योजना है जो किसानों को अपनी फसलों के नुकसान से मुआवजा प्रदान करने का काम करती है।

फसल बीमा ऑनलाइन कैसे करें?

फसल बीमा ऑनलाइन करने के लिए आपको अपने राज्य की बीमा कंपनी की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा। वहां आपको फॉर्म भरकर आवश्यक दस्तावेज जमा करने की प्रक्रिया मिलेगी।

फसल सहायता का पैसा कब आएगा?

फसल सहायता का पैसा किसानों के बैंक खाते में सीधे जमा किया जाता है। यह स्थिति आपके आवेदन के प्रकार और स्थिति के आधार पर निर्भर करती है।

बिहार में फसल बीमा का पैसा कब मिलेगा?

बिहार में फसल बीमा का पैसा आपके खेती के नुकसान की जांच के बाद और आवश्यक दस्तावेज प्रस्तुत करने के बाद मिलता है। इसमें आपके बैंक खाते की जानकारी की भी आवश्यकता होती है।

Leave a Comment